बंगाली ब्लू बीएफ

Image source,भाभी की क्सक्सक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

जरीन खान की सेक्सी फोटो: बंगाली ब्लू बीएफ, उसके कहने पर मैंने अपनी जीभ को उसके चूचों के निप्पलों के एलोरा पर फिराना शुरू कर दिया.

भाई बहन सेक्स वीडियो हिंदी

मैंने कई बार उसको फोन करने की कोशिश की लेकिन उसने जो नम्बर दिया था वो हमेशा ही स्विच ऑफ रहने लगा था. मारवाड़ी औरत की चुदाईलेकिन फिर भी घर के अंदर ही मौका पाकर कभी उसके होंठों को चूस लेता और चूचों को दबा दिया करता था.

मैं भी जवान हो चुकी थी, मैंने भले ही अब तक कभी किसी से चुदवाया नहीं था, पर चुदाई के बारे में मैं सब कुछ जानती थी. भाभी चुदाई कहानीतभी एक दिन बातों बातों में गुप्ता जी ने बताया कि शनिवार को डॉली का एक पेपर लखनऊ में है, मुझे उसको लेकर जाना पड़ेगा.

यूं वीरवार को वसुन्धरा के शिमला वाले घर में होने की संभावनाएं अत्यंत क्षीण थी लेकिन फिर भी मैंने हामी भर दी.बंगाली ब्लू बीएफ: तो मैंने उनको कहा- तो आपका कहीं और क्यों नहीं हुआ?तो उन्होंने बताया- सारे लोग सिर्फ़ सेक्स के लिए ही भूखे रहते हैं इसके आगे कुछ भी नहीं।मैंने उनको बोला- सारे लोगों के बारे में आप कैसे जानती हैं?उन्होंने बताया- अभी तुम बच्चे हो, दुनियादारी की तुम्हें समझ नहीं है.

नागिन की तरह मुझसे लिपटे लिपटे उसने मेरा लोअर नीचे खिसकाना चाहा तो मैंने अपना लोअर और टी शर्ट उतार दिये और दोनों फिर से लिपट गये.अब मैं एकदम से जाग गयी और मैंने उसका हाथ पकड़ लिया, मैंने पूछा- ये क्या हो रहा है?तो वे दोनों भाई बहन सकपका गए.

बहन की चूत चुदाई - बंगाली ब्लू बीएफ

दीदी नीचे वाले बाथरूम में नहाने चली गई और मैं छत पर चला गया। हम दोनों ने नहा कर खाना खाया। दीदी ने अभी पैजामा और टीशर्ट पहनी हुई थी। दीदी हॉल में सोफे पर बैठ गई। मैं भी दीदी के पास जाकर बैठ गया।तभी दीदी ने कोंडम और निरोध की गोलियां देख लीं जो मैं लाया था और बोली- भाई, बात सिर्फ देखने की हुई थी.कोई पांच मिनट की चुदाई के बाद वो फिर से झड़ गईं, लेकिन मैं नहीं रुका … मैं खूब जोर जोर के धक्के लगते हुए उनकी चुदाई कर रहा था.

बाद का किस्सा-ऐ-मुख़्तसर तो यह रहा कि प्रिया की शादी बहुत धूमधाम से हुई और शादी के बाकी के समारोह में वसुन्धरा का सब के साथ व्यवहार आश्चर्यजनक रूप से शालीन और मधुर रहा.बंगाली ब्लू बीएफ उसके बाद मैंने उसकी गांड में पहले अपनी अनामिका उंगली को डाला और अन्दर बाहर करने लगा.

जैसे ही उसकी जीभ की रगड़ मिली मैंने अपनी कमर ऊपर उछाल दी और उसको समझते देर नहीं लगी कि मैं चुदने के लिए तैयार हो चुकी हूं.

सेक्सी चूत की वीडियो?

बंगाली ब्लू बीएफ फिर वह तेजी के साथ अपनी गांड उचकाने लगी तो मेरे अंदर भी जोश बढ़ गया.

देवर और भाभी का सेक्स?सेक्सी गर्ल इन हिंदी

बंगाली ब्लू बीएफ उसने हंसते हुए कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- तुम्हारा वीर्य मेरे अन्दर भी चला गया है … कुछ हुआ तो?ये सुनते ही वो ज़ोर से हंस पड़ा.

देसी+सेक्स+onsporn

मुझे चूसने के बारे में नहीं पता और मेरा मन भी नहीं कर रहा था उनके लिंग को अपने मुंह में लेने का मगर वो चाहते थे कि मैं उनके लिंग को मुंह में ले कर चूस लूँ.मैं बिना रुके अपनी स्पीड बढ़ाते हुए धक्के लगा रहा था और सोनल मेरा साथ देते हुए सिसकार रही थी.

बंगाली ब्लू बीएफ जाने को तो वो दोनों पापा के साथ भी जा सकती थीं लेकिन पापा के साथ उनके न जाने का कारण यह था कि सुमिना और काजल दोनों जवान लड़कियां थीं इसलिए अपने से बड़ी उम्र के व्यक्ति के साथ वो न तो खुल कर बातें कर पातीं और न ही मटरगश्ती ही हो सकती थी.

साउथ एक्स वीडियो

बिहार के एक्स एक्स एक्सतभी मेरे पति का फोन आया, वो बोले- आप लोग कहां पर हो?मैंने उन्हें बताया- हम लोग मोनार्क होटल में हैं.

उसको देख कर तो यही लग रहा था कि अभी पकड़ कर चोद दें, पर ये मुमकिन नहीं था.मेरी इस रचना में नायक-नायिका के मिलते ही काम-क्रिया में लिप्त हो जाना पसंद करने वाले पाठकों को वैसा ना हो पाने के सारांश में कोफ़्त तो बहुत होगी लेकिन जो पाठक काम-कथा में भावनात्मक और रचनात्मक आवेगों के गुण-ग्राहक हैं उन्हें ये कहानी खूब भायेगी … ऐसा मेरा विश्वास है.

इस बार उसने अपना पूरा छह इंच का लंड मेरी चूत को चीरते हुए अन्दर तक डाल दिया.

एक झटके सुपारा अन्दर हो गया लेकिन वह चिल्ला पड़ा ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने उसकी कमर को कसकर पकड़ लिया और कहा- बस हो गया यार!यह कहते कहते मैंने धक्के मारना शुरू कर दिया और पूरा लण्ड पेल दिया.

हम एक-दूसरे से हर बात शेयर करते थे लेकिन अभी मैं उसके साथ सेक्स की बात नहीं कर पाया था. वो ऐसे होंठ चूस रही थी जैसे उनको खा जायेगी। वो गले तक जीभ उतार कर होंठ चूस रही थी। वो मेरे ऊपर थी.

हिंदी सुदाइ अब मुझे उससे चुदवाने में डर भी नहीं लग रहा था और हम दोनों लोग आराम से सेक्स कर रहे थे.

खून निकलने वाली सेक्सी वीडियो

बंगाली ब्लू बीएफ: चहल-पहल से भरा-पूरा एक घर महज़ चंद घंटों में ही खाली-खाली सा लगने लगा.उसने मेरे बूब्स दबाने शुरू किए और मैं उसे स्माइल देकर उसका जोश बढ़ा रही थी.