हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ

Image source,सेक्सी चुत का फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो में भेजो: हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ, !तो बहुत पूछने पर बोले- वो आदमी, जिसने मुझे बुलाया है, वह ‘फ्रेंडशिप-क्लब’ चलाता है, वो मुझसे बोला है कि एक महीने में तुमको बहुत पैसा पैदा करवा देगा, वो बोला था कि आप अपनी वाइफ को ले कर आओ.

देवर भाभी सेक्सी शॉट

साजन के हाथों के आर-पार, मैंने जंघाएँ सखी फंसा लईसाजन की गर्दन में बाहें लपेट, नितम्बों को धीमी गति दईदोनों हाथों से पकड़ नितम्ब, साजन ने उन्हें गतिमान कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. తెలుగు aunty xnx’ निकल रही थीं।बाद में उसने झटके से मेरी सलवार खींचीं, पैन्टी के ऊपर से ही मेरी योनि को सहलाने लगी, जो गीली हो गई थी।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसने कहा- इतनी जल्दी.

15 मिनट की जबरदस्त चुदाई करने के बाद बिट्टू भी झड़ने के कगार पर थी और फिर नीचे से धक्के देकर ‘आह्ह आह्हअह उई उईए सीई आई’ करती हुए मुझे अपने बाहों में जकड़ कर झड़ गई. दूल्हा दुल्हन!’मैं- क्या मतलब?वो- अरे यार हम जब छत पर आए थे, मैं तेरे बेड पर बैठने लगी, तो मेरा पैर तेरे वीर्य पर पड़ा। मैंने देखा कि ये तेरा वीर्य है और फिर मैंने सोने का नाटक किया।मैं- सोने का नाटक क्यों.

कहानी का पिछला भाग:कड़क मर्द देखते ही चूत मचलने लगती है-1मैं सलाद काटने रसोई में गई, तभी मौसा जी आए। मेरे पीछे खड़े हो गए, मेरा ध्यान सामने था। जब मैं मुड़ी.हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ: !रेहान ने पास में रखी तेल की शीशी ली और जूही की चूत पर ढेर सारा तेल लगाया और अपनी ऊँगली से अन्दर करने लगा।जूही- आ उफ्फ रोनू दुखता है.

बड़ी बेसब्री से अंग मेरा, स्तम्भ पे चढ़ता उतरता थाजितनी तेजी से चढ़ता था, उतना ही तीव्र उतरता थामेरे अंग ने उसके अंग की, लम्बाई-चौड़ाई नाप लियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.खा जा इसे !उधर सोनल अपने कपड़े उतार कर रश्मि के मम्मे सहलाने लगी।कहानी जारी रहेगी।मुझे मेल करें ![emailprotected].

भोजपुरी सेक्सी जंगल में - हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ

!रेहान- जानेमन… नंगी होने की जरूरत नहीं पड़ेगी, अन्ना ऐसा कुछ नहीं करेगा, मैं जानता हूँ उसको और मानेगा क्यों नहीं, थोड़ा भी ना नुकुर करे तो साले के लंड पर हाथ रख देना। साला ‘ना’ को भी ‘हाँ’ बोलेगा.क्या मजेदार और चिकनी है… और क्या खुशबू है यार…सलोनी- अच्छा हो गया बस बहुत याराना… चलो अब पीछे हो…मनोज- नहीं यार… ऐसा जुल्म मत करो… ओह नहीं यार… अभी रुको तो… बस एक मिनट… यार अभी कर लेना बंद…सलोनी- क्यों… अब क्या अंदर घुसोगे…मनोज- अरे नहीं यार… इतनी जगह कहाँ है इसमें.

उसके बाद वहाँ से निकल गए।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उधर अनुजा भी अपनी सहेली के यहाँ से घर आ गई तो उसने देखा कि विकास सोया हुआ था।दीपाली की चुदाई के बाद उसको अच्छी नींद आई।अनुजा- अरे क्या बात है मेरे सरताज.हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ मैं आपको देखना चाहती हूँ…मैं कुछ नहीं बोली।सवेरे फिर मित्र से बात हुई… वो बोले- रात में जो नहीं कर सकी…मैं बीच में टोकते हुए बोली- सॉरी !वो बोले- नो सॉरी, नो ! इसकी सजा मिलेगी !जब स्कूल में मैं काम करके नहीं ले जाती थी तब भी मुझे सजा मिलती थी, आज उसकी याद आ गई, मैंने कहा- ठीक है.

फव्वारों से निकले तरलों से तन-मन दोनों थे तृप्त हुएसाजन के प्यार के उत्तेजक क्षण मेरे अंग-अंग में अभिव्यक्त हुएमैंने तृप्ति की एक मोहर साजन के होंठों पर लगाय दियाउस रात की बात न पूछ सखी जब साजन ने खोली मोरी अंगिया!.

सेक्सी वीडियो चूत में लंड डाल?

हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ तो मैं किसी लड़की या औरत की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं देता था। हालाँकि मैं अपने फ्रेंड्स के साथ कभी कभी नंगी मूवीज देख लेता था।एक बार जब हम अपनी गली में क्रिकेट खेल रहे थे.

ई वाला सेक्सी?www.com बीएफ एचडी

हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ सबके लंड 7-8 इंच के बीच थे!फिर संजीव ने मेरे चूतड़ों के नीचे तकिया लगाया और मेरी चूत पर थूक लगा कर अपने लंड का सुपारा रगड़ने लगा.

हैप्पी होली कार्ड

घर पहुँच कर मैं सबसे मिला… दादा-दादी का आशीर्वाद लेने के बाद मैं घर के अंदर गया और वहां चाची से मिला।हमारे गाँव में लगभग हर रिश्ते देवर-भाभी जीजा-साली के साथ साह्त चाची-भतीजे, मामी-भांजे आदि में भी थोड़ा गंदा मज़ाक चलता है…चाची इस वक़्त एक 38 साल की औरत थी, काफ़ी गोरी और पतले शरीर की औरत थी, पतले से मेरे मतलब यह कि आज भी वो किसी कमसिन लड़की की तरह लगती थी.! मैं कल आइ-पिल खा लूँगी, फिर कुछ नहीं होगा। तुम बस आज मेरी बारह बजा दो। जैसी ब्लू-फिल्म्स में हीरो उस बच्ची सी लड़की की हालत करता है, उससे भी बुरी तरह चोद दो मुझे.

हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ !फिर चाची ने मेरा सर पकड़ कर अपने चूचुक से लगा दिया। मैंने पहली बार उन चूचुकों पर अपना मुँह रखा जिनको मैं छुप कर देखा करता था।आज वो चूचुक खुद चल कर मेरे मुँह में आ गए थे, चाची अपने मम्मों को दोनों हाथों से दबा-दबा कर मेरे मुँह में डाल रही थीं।मेरी सासें रुकने लगी थीं।‘साहिल.

झवाझवी जोक्स

बिहार का फुल सेक्सीवो लड़की तो उछल उछल कर बोलने लगी-मैं तो परी बन गई !मैं तो परी बन गई !!वहीं खड़ा एक लड़का इरफान यह सब तमाशा देख रहा था.

! प्यार के साथ चुदाई में यह सब चलता है, यह तो मिक्स सोडा था लोग तो सीधे मुँह में मुतवाते हैं।अरे तू तो बड़ी एक्सपीरियेन्स्ड है.तभी उन्होंने मेरा लंड छोड़ कर मेरा मुँह अपनी चूत पर दबा दिया और आआअह ह्ह्ह्ह्हा आआऊऊ उईईइ म्म्म्म्मा करने लगी और जोर से झड़ गई.

दस मिनट के बाद मैं फ़िर झड़ने वाला था।अब मैंने मेरा सारा वीर्य उसके शरीर पर यूँ ही छोड़ दिया। फ़िर उसे फ़िर से ज़मीन पर लिटा कर सारा वीर्य चट कर गया।फ़िर हम दोनों ने एक साथ स्नान किया।स्नान करते वक्त भी हमने बहुत मस्ती की और फ़िर हम दोनों तैयार होकर अपने-अपने घर जाने के लिए निकले।जाते वक्त उसने मुझसे कहा- जयेश, आज सच में मुझे बहुत मजा आया है.

!मैंने और प्रेशर दिया और आधा लंड चूत में डाल दिया।फिर मैं सरिता के होंठों पर चुंबन करने लगा और आहिस्ता-आहिस्ता लंड अन्दर-बाहर करके चोदना शुरू किया। चार स्ट्रोक और मारे और पूरा 7 इंच लंड चूत में घुसा दिया।सरिता ने मेरे कूल्हे पकड़ कर लंड को चूत में जाने से रोका और बोली- ठहरो अभि.

रुचिका से, वो ऑस्ट्रेलिया में ही ज्यादा रही है… इसलिए बहुत मॉडर्न है…सलोनी- अच्छा, तो अब तो रुचिका के साथ ही आएंगे. !इस पर उसने कहा- आपने खा लिया तो मैंने भी खा लिया।ऐसे ही दिन भर हम लोग इधर-उधर की बातें करने लगे। बीच-बीच में मैं उसकी टाँग खिचाई भी कर देता था, लेकिन वो कुछ नहीं बोली।ऐसे ही उसने मुझसे पूछा- क्या तुम मुझसे वाकई प्यार करते हो?मैंने कहा- अभी भी कोई शक है?शालू- नहीं.

सेक्सी सरदार वाली और मैं उन्हें देख कर !चाची ने उस वक़्त साड़ी पहनी हुई थी और शायद घर के कम करने की वजह से वो अस्त व्यस्त हो गई थी… और सामने से चाची का लाल रंग का ब्लाउज़ और उसमें उनकी काली ब्रा का कप साफ साफ झलक रहा था.

सेक्स बढ़ाने वाली सेक्सी

हिंदी में बीएफ भेजो बीएफ: नहीं तो चेहरा अच्छा न लगेगा और मेकअप भी ख़राब हो जाएगा।मेरी इस प्रतिक्रिया पर उसने मेरे गालों पर एक चुम्मी जड़ दी और मेरा हाथ जो कि गेयर पर था उसके ऊपर अपना हाथ रख कर मुझसे प्यार भरी बातें करने लगी।बातों ही बातों में कब उसने अपना हाथ उठा कर मेरी जांघ पर रख कर सहलाना चालू कर दिया.पर मैंने खुद को संभाल लिया… तभी झट से नीचे लेट कर फिर मोमबत्ती जला कर दो मिनट उसकी लपट बढ़ने तक इन्तजार किया.