गांव देहात की सेक्सी बीएफ

Image source,ब्लू पिक्चर छोडा छोड़ि वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

कैरम बोर्ड खेला: गांव देहात की सेक्सी बीएफ, जैसे वो और भी धक्कों के लगने का इन्तजार कर रही हैं।मुझे दूर से ऐसा लग रहा था जैसे रामावतार जी का लिंग रमा जी के बड़े और मांसल चूतड़ों के बीच फंस गया हो। उन्होंने कुछ पल तो यूँ ही प्यार किया फ़िर वो अलग हो गए। मुझे लगा कि वो दोनों अपनी अवस्था बदलना चाह रहे हों।रमा जी ने नीचे लेटी हुई सम्भोग में लीन बबिता को झुक कर कहा- बस भी करो बबिता जी.

दुनिया की सबसे बड़ी योनि

मैंने कहा- भाभी जी आज मैं आपकी चूत की पूरी तसल्ली करवा दूँगा और आज मैं भी इसे छोड़ने वाला नहीं हूँ।मैं भी बहुत दिनों से सेक्स का भूखा था और फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी। मैंने भाभी को बीस मिनट तक चोदा और अंत में मैं भाभी की चूत में ही झड़ गया। फिर मैं भाभी के शरीर पर ही लेट गया।कुछ देर हम ऐसे ही लेटे रहे, फिर भाभी ने पूछा- बहुत अच्छा चोदा तुमने. सोनाक्षी का सेक्सीवो फुल मजे लेने लगी, मैं भी मजे से उसकी फुदी को चोद रहा था।‘चोद साले.

तुझे अब चूत चूसना सिखा दूँ।सरोज का चेहरा लाल हो गया था। वो कांप रही थी। साथ ही बड़े ही नशे में थी। उसके कूल्हे लाल चटख हो गए थे। उसने माया के कूल्हों को उठाया और नीचे तकिया रखा ताकि उसकी चूत का छेद ठीक से ऊपर आ जाए और खुल कर फूल की तरह खिल जाए।मैंने पहली बार इतनी नजदीक से चूत की लाल चटख फांकों को देखा था।ओहह. xxx कहानियासो मैंने उसे पकड़ कर खड़ा कर दिया।वो बेचारी वैसे ही छरछरा के मूतने लगी, वो मेरी ओर शर्म से देख भी नहीं रही थी।मैंने उससे कहा- तुम तो मेरी सोहा बन गई हो.

तो मैंने उसको पीछे से दबोच कर गोद में उठा लिया और सीधा ले जाकर बिस्तर पर पटक दिया क्योंकि मेरी हवस फिर से जाग गई थी।लेकिन वो भी परम सेक्सी औरत थी बोली- बस 10 मिनट सबर कर ले राजा.गांव देहात की सेक्सी बीएफ: ? हम जो कर रहे हैं ये ग़लत है।पर मैंने ठान लिया था कि आज दीदी को चोद रहूँगा। मैंने दीदी के सामने गिड़गिड़ाते हुए बोला- प्लीज़ दीदी आज बस आप अपने दूध पीने दो बस.

नाख़ून मेरी कमर में चुभा दिए।तभी मुझे उंगली पर बहुत सा पानी महसूस हुआ। वो एक बार झड़ चुकी थी।अब मैंने उसको मेरा लंड मुँह में लेने के लिए बोला.आप तो टीचर रह चुकी हैं आपके लिए यह काम क्या मुश्किल है। एक घंटे में सब सिखा दूँगा.

सेक्सी उत्तर प्रदेश - गांव देहात की सेक्सी बीएफ

?’ प्रोफेसर ने एकदम से अचकचा कर कहा।अब सविता ने कामुकता से भरे स्वर में कहा- आओ सर.आज तो दम से चोदूंगा।उन्होंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी।अब डॉक्टर सचिन ने नेहा की चूत को चोदते हुए उसकी गोरी गांड पर हमेशा की तरह ‘चट चट.

तो हम दोनों बेडरूम में आ गए और मैंने मोबाइल पर एक पोर्न फिल्म चला दी।जिसे हम दोनों देखने लगे और पागल होने लगे।मैंने स्नेहा को बेड पर लेटा दिया और उसे ऊपर से नीचे तक चूमने लगा। वो चुदास से पागल होने लगी थी और जोर-जोर से सिसकारियां भरने लगी।मैंने उसके टॉप को हटा दिया.गांव देहात की सेक्सी बीएफ उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो दर्द से छटपटाने लगीं।मैं कुछ देर रुका और फिर पूरी ताक़त से एक और धक्के में पूरा लंड अन्दर पेल दिया। वो फिर से चीख पड़ीं और उनका दर्द बढ़ गया। लेकिन अब मैं रुका नहीं.

अनीता भी शादी में आई हुई थी, जब इस बात का उसे पता चला कि मैंने पी रखी है.

नुदे सेल्फी?

गांव देहात की सेक्सी बीएफ जो मैं शब्दों में ब्यान नहीं कर सकता।तभी मुझे एक आईडिया आया जो मैंने रोहित को बताया। फिर हम 69 की पोजीशन में आ गए.

भैरव नाथ की फोटो?अमेरिकन सेक्सी वीडियोस

गांव देहात की सेक्सी बीएफ इन्हें चूसने में बहुत मजा आएगा।फिर ये मेरे मम्मों को चूसेगा और मुझे गर्म होकर इसके लंड को भी सहलाना पड़ेगा।‘आह्ह.

देसी इंग्लिश पिक्चर

और मैं वो छवि बरकरार रखना चाहती थी।बस ये सारी बातें सोचते हुए मैंने अपने बाएँ हाथ से कांतिलाल जी के लिंग को पकड़ा और अपनी कमर ऊपर उठा कर लिंग को अपनी योनि की छेद पर थोड़ा रगड़ दिया।बस फिर क्या था.क्यों तड़फा रहा है।वो ये कहते हुए नीचे से मेरे लंड पर दबाव डालने लगी। मैंने उसके होंठों को अपने मुँह में जकड़कर एक धक्का मारा.

गांव देहात की सेक्सी बीएफ मेरा लंड आपकी मस्त चूत में घुसने के लिए इतना मचल जो रहा है।’सरला भाभी हँस कर मुझे खींचते हुए फिर से बेडरूम में ले गईं और उन्होंने अपना पेटीकोट ब्लाउज उतार दिया। भाभी पूरी नंगी हो गईं। मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए।अब भाभी ने मुझे बिस्तर पर बैठा कर टाँगें आगे फैलाने को कहा और खुद अपने घुटनों पर मेरी जाँघों के ऊपर अपने चूतड़ टिकाते हुए बोलीं- चल मेरे चोदू सांड.

वॉलपेपर भक्ति

desi पिक chut में land ka paniपर धीरे-धीरे चुदाई हुई थी। उनके पति भी खुश हैं और ससुर भी खुश हैं।आप मुझे मेल करें।[emailprotected].

मम्मों से लेकर चूतड़ों तक का उभार साफ़-साफ़ दिखाई देता था।मैं उसी के दीदार को सारा दिन छत पर बैठा रहता था। मैं बस इसी फ़िराक में रहता था कि कब उसे चोद डालूँ।एक दिन नीलम का बैंक का एग्जाम शहर से काफी दूर पड़ा। उनके घर में कोई लड़का नहीं था.हम दोनों में प्यार भरी बातें होने लगीं।कुछ देर बाद वे रोने लगीं।मैंने भाभी से पूछा, तो उन्होंने बताया- रिपोर्ट में तुम्हारे भैया में कोई दिक्कत निकली है.

मैं बहुत खुश था।उसके बाद सरिता बाथरूम से बाहर निकली तो मैंने उसे वो चादर दिखाया और उसे मेरी जिंदगी में आने के लिए और मेरी जीवन संगीनी बनने के लिए धन्यवाद दिया।उस पूरी रात में हमने 5 बार और सम्भोग किया अलग-अलग आसनों में.

पर हम दोनों में कोई बात नहीं होती थी। मैं शुरूआत से ही थोड़ा शर्मीला था, मैं लड़कियों से बहुत बात नहीं करता था।एक दिन की बात है.

टॉवल बाथरूम में रख दो और इनकी टी-शर्ट और शॉर्ट्स भी बाथरूम में टांग देना।मैंने कहा- ठीक है।थोड़ी देर में डॉक्टर साहब शावर लेने चले गए और नेहा खाने की तैयारी करने चली गई।डॉक्टर साहब शावर ले के बाहर आ गए और टीवी देखने लगे।डॉक्टर साहब नेहा से बोले- बाथरूम में मेरे अंडर गारमेंट पड़े हैं. तो वो और उसकी बहन दोनों पढ़ाई कर रही थीं।मैं उनको खाना देकर वापस आ गया और ऊपर अपने कमरे में चला गया।करीब साढ़े नौ बजे दरवाजे पर दस्तक हुई। मैंने दरवाजा खोला तो सामने पिंकी खड़ी थी। वो छत के रास्ते से मेरे कमरे तक आई थी.

होळी २०२२ वो फिर से चिल्लाने लगी लेकिन इस बार मैं धक्के लगाता रहा।वो मुझे गालियाँ दे रही थी- साले सांड के बच्चे.

रंडियों का नंगा नाच

गांव देहात की सेक्सी बीएफ: ’डॉक्टर सचिन बोले- तुम बोलो तो इसकी गांड में सच में लाल मिर्च लगा दूँ.इस ऑफिस के प्यार में बहुत मज़ा आ रहा है। अपनी चूत तो एकदम गीली हो गई है.